Hare Krishna Mahamantra

हरे कृष्ण हरे कृष्ण, कृष्ण कृष्ण हरे हरे || हरे राम हरे राम, राम राम हरे हरे||

Search within this blog

ठुमक चलत रामचंद्र बाजत पैंजनियां - Thumak Chalat Ram Chandra - Bhajan


ठुमक चलत रामचंद्र, बाजत पैंजनियां |

किलकि किलकि उठत धाय, गिरत भूमि लटपटाय |
धाय मात गोद लेत, दशरथ की रनियां ||

अंचल रज अंग झारि, विविध भांति सो दुलारि |
तन मन धन वारि वारि, कहत मृदु बचनियां ||

विद्रुम से अरुण अधर, बोलत मुख मधुर मधुर |
सुभग नासिका में चारु, लटकत लटकनियां ||

तुलसीदास अति आनंद, देख के मुखारविंद |
रघुवर छबि के समान, रघुवर छबि बनियां ||

Watch video of this bhajan:

Also check following bhajans:

पायो जी मैंने राम रतन धन पायो - Payo Ji Maine Ram Ratan Dhan Paayo


सीता राम सीता राम सीता राम कहिये - Sita Ram Sita Ram Sita Ram Kahiye


तेरा रामजी करेंगे बेड़ा पार - Tera Raam Ji Karenge Bera Paar


सूरज की गर्मी से जलते हुए - Suraj Ki Garmi Se Jalte Hue Mann Ko


सुख के सब साथी दुःख में ना कोई - Sukh Ke Sab Sathi Dukh Me Na Koi


कभी कभी भगवान् को भी भक्तों से काम पड़े - Kabhi Kabhi Bhagwan Ko Bhi Bhaktoin Se Kaam Pade


इतना तो करना स्वामी जब प्राण तन से निकले - Itna Toh Karna Swami Jab Prann Tan Se Nikle

http://krishnaseva.blogspot.in/2016/01/itna-toh-karna-swami-jab-prann-tan-se.html

अच्युतम केशवं राम नारायणं अच्युता अष्टकम - Achyutam Keshavam Ram Narayanam - Achyutam Ashtakam

*** Hare Krishna ***